रविवार, 4 नवंबर 2007

अक्‍लदाढ़ का दर्द

चर्चित कवि मंगलेश डबराल को जब आयोवा यात्रा के दौरान भयानक दांत दर्द ने परेशान किया, तो जांच के बाद डाक्‍टरों ने पूछा कि आपकी अक्‍लदाढ़ उखाड़नी होगी, तो मंगलेश ने इस पर चुटकी लेते कहा - अगर अक्‍लदाढ़ उखड़वाना ही इलाज है तो मैं उसे स्‍वदेश में ही उखड़वाउंगा। और भारत आने तक उन्‍होंने दर्द निवारक दवा से काम चलाया।
मतलब अमेरिका जैसे सुविकसित देश में भी दांत दर्द का इलाज उसे अंतत: उखड़वाना ही होता है। पर अगर लक्षणों का मिलान कर होम्‍योपैथी की सही दवा का प्रयोग किया जाए, तो आप दांत निकलवाने से लंबे समय तक बच सकते हैं।
अक्‍सरहां दांत दर्द होने पर मर्क साल 30 और थूजा 30 का प्रयोग उसकी अधिकांश समस्‍याओं का निदान कर देता है।

2 टिप्‍पणियां:

Dr Prabhat Tandon ने कहा…

इसके अलावा और भी कई होम्योपैथिक औषधियों का महत्व है , जैसे-
[Complete ] [Teeth]Wisdom teeth, ailments from eruption of:
Total Drugs :8

2 Calc :Calcarea carbonica Hahnemanii
2 Fl-ac :Fluoricum acidum
2 Mag-c :Magnesia carbonica
2 Sil :Silicea; Silica terra
1 Cham :Chamomilla vulgaris
1 Chap :Chaparro amargoso; Castella texana
1 Cheir :Cheiranthus cheiri
1 Ozone :Ozonum
औषधियाँ ग्रेडींग के हिसाब से दी हैं। local apllication के लिये cherianthus Q का प्रयोग उत्तम है ।

vijay gaur ने कहा…

bhai homeopaty sidanto ke parbhav se bhari ek kahani mene likhi he. pahal-84 me he.